veggie oat bars recipe Indian food

veggie oat bars recipe Indian food recipe

veggie oat bars recipe बहुत ही वेजी ओट बार दोपहर के भोजन के लिए कॉलेस्लाव से और थोड़े से सलाद के साथ बहुत अच्छी है और भी लंच बॉक्स में रखने के लिए भी प्राप्त साफ- सूथरा हैं। गीले पनीर सैंडविच से बदलाव! वे दृढ़ लेकिन नम हैं, और गर्म या ठंडा खाया जाता हैं। बस उन्हें सप्ताहांत में बेक करें, और चुंकि आप प्रत्येक बैंच से लगभग 9 टुकड़े प्राप्त कर सकते हैं। वह आपको अगले कुछ हफ्तों तक देखेंगे- उन्हें फ्रीजर में स्टोर करें और एक समय में कुछ टुकड़ों को पिघलाएं।

veggie oat bars recipe Indian food
Bhut hi km taim me ghr pr aaye friends ke liye best veggie oat bars recipe recipIndian food

मैंने टमाटर और मिर्च पेस्टो का उपयोग किया, जो वास्तव में अच्छा काम करता है, लेकिन कोई भी स्वादिष्ट पेस्टो काम करेगा। (यदि आपका पेस्टो मलाईदार नहीं है तो आप हमेशा एक चुटकी मिर्च पाउडर भी मिला सकते हैं) ताजी जड़ी- बूटियां अतिरिक्त परिपक्व पनीर चुटकी भर नमक और काली मिर्च सचमुच स्वादिष्ट। क्या आपको इस सप्ताह अपनी पैक लंच में ये वेजी ओट बार पसंद है।


ओट्स कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, तथा विटामिन बी से भरपूर होता है यह नर्वस सिस्टम के लिए भी फायदेमंद माना जाता हैं, ओट्स यानी जौ का दलिया जो आजकल बाजार में अलग-अलग तरह से कई फ्लेवर्स भी आसानी से मिल जाता है इसका सेवन सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ओट्स के अधिक सेवन से आपको नुकसान भी हो सकता है।


स्वस्थ, पौष्टिक खाद्य पदार्थ से भरपूर एक उत्कृष्ट उपचार ओट बार भोजन के बीच भुख को शांत करने का एक शानदार तरीका हैं। जब साबुत अनाज जेई के साथ बनाया जाता हैं, तो यह बार आपका आहार में थोड़ी मात्रा जोड़ देते हैं, जो आपकी अधिकांश अन्य स्नेक्स की तुलना में अधिक समय तक तृप्त रखेगा। इसके अलावा वे स्वादिष्ट है।

veggie oat bars recipe Indian food recipe
veggie oat bars recipe Indian food recipe


veggie oat bars recipe के लिए सामग्री

  • एक माध्यम तोरी, कद्दूकस की हुई( कद्दूकस करने पर वजन लगभग 315 ग्राम या दो कप था)।
  • तीन मध्य गाजर, कद्दूकस की हुई (कद्दूकस करने पर गाजर लगभग 200 ग्राम थी)।
  • 225 ग्राम अतिरिक्त परिपक्व चेडर चीज, कसा हुआ (कद्दूकस किया हुआ)।
  • 150 ग्राम रोल्ड ओट्स।
  • 80 ग्राम स्वयं लगने वाला आटा।
  • ताजी तुलसी या अजमोद की कुछ टहनियां ,मोटे तौर पर कटी हुई।
  • तीन हरी प्याज कटी हुए।
  • दो बड़ी चम्मच पेस्टो (मैंने टमाटर और मिर्च पेस्टो का इस्तेमाल किया)।
  • 75 मिली दुध ।
  • चम्मच सुखा अजवाइन या अजमोद।
  • नमक।
  • काली मिर्च।
  • चिकनाई के लिए तेल।

veggie oat bars recipe बनाने कि विधि

  • एक बड़े मिश्रण कटोरे में कसा हुआ तोरी, कसा हुआ गाजर, कसा हुआ पनीर, जई, आटा, कटी हुई जड़ी- बूटियों और हरा प्याज डालें। मिलाने के लिए मिलाएं।
  • फिर पेस्टो, दूध, सुखी, जड़ी- बूटियों और एक चुटकी नमक और काली मिर्च डालें। और अच्छी तरह मिश्रित होने तक अच्छी तरह मिलाएं।
  • एक उपयुक्त आकार की बेकिंग डिश को चिकना करें और जई के मिश्रण को डिश में डालें। ऊपर से चिकना कर लें और पन्नी से ढक दें। (याद रखें की आटे की अपने आप उठने के कारण मिश्रण थोड़ा ऊपर उठ जाएगा)
  • लगभग 1 घंटे के लिए 190 °C पर बैक करें फिर पानी हटा दें, और 10 मिनट के लिए या अपनी पसंद के अनुसार कुरकुरा होने तक बेक करें। ठंडा होने के लिए छोड़ दें, या टुकड़े करके तुरंत परोसें।
Veggie oat bars recipe
Veggie oat bars recipe

veggie oat bars recipe से बने भोजन को खाने के क्या फायदे हैं?

  • ओट्स में पाया जाने वाला इनोजिटाॅल रक्त में वसा के स्तर को नियंत्रित करता है तथा उसे बढ़ने नहीं देता यह शरीर में उपस्थित अतिरिक्त वसा को भी कम करता हैं।
  • पेट संबंधी रोगों में भी और उसका सेवन काफी लाभ देता है यह कब्ज दूर करके पेट खराब होने की समस्या से निजाज दिलाने में सहायक हैं।
  • यह शरीर में गर्मी बढ़ने के कारण होने वाली समस्याएं जिससे चक्कर आना, दिल घबराना आदि में भी फायदेमंद हैं।
  • ओट्स के चोकर में पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पेट को जल्दी भरने के साथ ही शरीर में उर्जा संचार करता है तथा वजन कम करने में बहुत लाभदायी हैं। यह त्वचा को खूबसूरत बनाने में भी आपकी मदद कर सकता हैं।
  • ओट्स का सेवन कैंसर से बचाव, हृदय रोग का खतरा तथा हृदय की धमनियों में वसा जमने से रोकने का कार्य करता हैं। इसके साथ ही यह सौंदर्य की दृष्टि से भी फायदेमंद हैं।https://foodwada.com

Veggie oat bran recipe को बनाते समय क्या ध्यान रखें ?

  • यदि आपके ओट्स से ठीक से पके नहीं हो तो उसे खाने से पेट संबंधी समस्या उत्पन्न हो सकती है तथा पेट में कब्ज की समस्या से रूबरू होना पड़ सकता हैं। अतः ओट्स को अच्छी तरह पका कर ही इसका सेवन करना चाहिए।
  • बाजार में कई प्रकार की ओट्स आसानी से मिल जाते हैं। यदि आप कम पोषक तत्व वाले और ज्यादा मात्रा में खाएंगे तो आपको माइग्रेन, मोतियाबिंदु, अधिक नींद आना, हड्डियों में दर्द, थकान तथा शुगर मिक्स ओट्स खाने से मधुमेह रोगियों के लिए हानिकारक साबित हो सकता हैं।
  • ओट्स में अधिक फैटी एसिड होने के कारण इसका ज्यादा मात्रा में सेवन करना स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को बुलावा देने के समान हैं। अतः जरूरत से ज्यादा इसका सेवन करने से बचे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »

Discover more from FOODWADA

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading