Thiruvathirai Kali recipe in Hindi 1 amazing ( तिरुवथिराई काली ) बनाने कि विधि

Thiruvathirai Kali recipe in Hindi 1 amazing ( तिरुवथिराई काली ) बनाने कि विधि

Thiruvathirai Kali recipe in Hindi त्यौहार लिए प्रसादम के रूप में पेश करने के लिए तिरुवथिराई काली रेसिपी एक पारंपरिक मिठाई तिरुवथिराई अड़ाई जो हमारी पारंपरिक प्रथम हैं।
.यह तिरुवथिराई के शुभ दिन पर प्रसादम (पवित्र प्रसाद) के रूप में तैयार की जाने वाली एक पारंपरिक रेसिपी है। तिरुवथिराई या अरुद्र दारिससय एक हिंदू त्यौहार है जो दक्षिण भारतीय राज्यों तमिलनाडु और केरल में मनाया जाता है तिरुवथिराई तारा भगवान शिव का हैं।
यह भगवान शिव के लौकिक नृत्य का जश्न मनाता हैं।


. चिदंबरम श्री नटराज मंदिर में इसे 10 दिनों तक भव्य तरीके से मनाया जाता है यह मदुरै, तिरुवंलगाडु, तिरुनेलवेली और कूट्रालम अन्य पांच सभाओं के बीच मनाया जाता है।
.तिरुवथिराई त्यौहार तमिल महीने मार्गाजी की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है जो आमतौर पर दिसंबर या जनवरी की शुरुआत में पड़ता है।

Thiruvathirai kali recipe in Hindi
Thiruvathirai kali recipe in Hindi


.हमारे परिवार में, हम सात सब्जियों के साथ तिरुवथिराई काली एक मीठी तिरुवथिराई अदाई और कूटू तैयार करते हैं इसे सुबह-सुबह चढ़ाया जाता है और पूजा की जाती है भगवान शिव की पूजा की जाती हैं।
.आमतौर पर लोग व्रत रखते हैं और सूर्योदय से पहले भोजन कर लेते हैं और चंद्रमा निकलने की बात ही भोजन करते हैं इसलिए घर की बड़े- बुजुर्ग सूर्योदय से पहले ही यह सब कर लेते हैं।
.घर को साफ करें, प्रवेश द्वार और पूजा स्थल पर मांग कोलन बनाएं ।


.हरे रंग की पृष्ठभूमि के साथ और माकोलम बैटर का उपयोग करते हुई दीवार पर एक थियर भी फिर इसके अंदर प्रतीकात्मक रूप से एक शिवलिंग बनाएं। इसके ऊपर सात अलग-अलग वस्तुएं और रंगों के साथ 9 बिंदु है।


.हम तिरुवथिराई त्यौहार बिना किसी रुकावट के मनाते हैं, भले ही परिवार मे किसी की मृत्यु हो जाए फिर भी यह अनिवार्य है कि तिरुवथिराई ही मनाया जाएं।
. यदि किसी कारण से यह पूर्णिमा के दिन छुट जाता है तो हम भोगी दिवस (पोगल से एक दिन पहले) पर उत्सव मनाते हैं ।


. हमारे घर में मुख्य सामग्री के रूप में भून और कुटे चावल गुड़ के साथ पकाई गई दाल, इलायची, घी और नारियल से काली बनाने की परंपरा हैं।
.हमारी विशेष पेशकश मीठी अदाई है जिसे हम 7 की संख्या में बनाते हैं यह एक ही आकर का होना चाहिए और चढ़ने से पहले टूटना नहीं चाहिए इसके ऊपर ताजा मक्खन डाली और परोसें।


.इन दोनों के साथ7 सब्जी कूटू इसके अलावा हम नियमित त्यौहार मेनू बनाते हैं जैसे दक्षिण भारतीय परुप्पु, बिना प्याज, बिना लहसुन का सांबर, नेल्लिकाई थायिर,पुड़ी,पोरियाल।
. मैं इसे सरल रखता हूं क्योंकि हमारा परिवार छोटा है और मैं काली, कूटू और अदाई को ध्यान में रखते हुए कम चीजें बनाती हूं।

Thiruvathirai Kali recipe in Hindi 1 amazing ( तिरुवथिराई काली ) बनाने कि विधि
Thiruvathirai Kali recipe in Hindi 1 amazing ( तिरुवथिराई काली ) बनाने कि विधि

Thiruvathirai Kali recipe in Hindi को बनाने की आवश्यक सामग्री:

  • आधा कप कच्चा चावल।
  • दो बड़ी चम्मच पासी परुप्पू मूंग दाल।
  • आधा कप गुड़।
  • एक चौथाई कप नारियल ।
  • एक चुटकी इलायची ।
  • एक चम्मच घी।
  • एक चम्मच पानी ।
  • नमक -एक चुटकी ।


Thiruvathirai Kali recipe in Hindi को कैसे बनाएं:
भूनना:

  1. एक पैन गर्म करें और उसमें चावल और दाल को अच्छे से सुनहरा होने तक भून लें। आप अलग-अलग या एक साथ भी भून सकते हैं, मैं इसे अलग-अलग करने का सुझाव देती हूं हालांकि मैं इसे एक साथ किया हैं।
    अलग-अलग भूनने से भूरापन एक समान हो जाता है मुझे लगता है कि मूंग दाल चावल की तुलना में जल्दी भून जाती है इसलिए अगर हम अच्छा भूरापन चाहते हैं तो हम इसे और नहीं भून सकतें।
  2. धीमी आंच पर न करें, अच्छी ब्राउनिंग सुनिश्चित करने के लिए इसे तेज या मध्यम आंच पर करें जो काली को अलग स्वाद देता है।
    3.पूरी तरह से ठंडा करें।
    पिसाई
  3. छोटी बैचों में पीसकर मोटा पाउडर बना लें, मैं इसे मोटे आटे के बजाय नोई (जमीन )के रूप में रखना पसंद करती हूं यह आपकी पसंद है दोनों ही तरह से यह अच्छा काम करता है, केवल बनावट में अंतर होता है।
  4. यदि एक ही बैच में पीसा जाए तो एक समान पाउडर न बनने की संभावना रहती है इसलिए इसे बैंचों में पीछे और मिक्सी में प्लस विकल्प का उपयोग करें।
Thiruvathirai Kali recipe in Hindi 1 amazing ( तिरुवथिराई काली ) बनाने कि विधि
Thiruvathirai Kali recipe in Hindi 1 amazing ( तिरुवथिराई काली ) बनाने कि विधि

Thiruvathirai Kali recipe in Hindi में गुड़ का शरबत:

  1. एक बर्तन में गुड़ लें और उसे डूबाने के लिए उसमें पानी डालें ।
  2. गुड़ के घुलनी तक गर्म करें ,किसी भी अशुद्धता को दूर करने के लिए इसे छान ले नीचे दिए अनुसार उपयोग करें
  3. मैं इसी कम पानी के अनुपात में करती हूं इसलिए तली को जलने से बचाने के लिए मैं इस बर्तन में बर्तन विधि से करती हूं यह पॉट इन पॉट विधि है, यानी खाना पकाने के लिए एक बर्तन को अंडर प्रेशर
  4. जब प्रेशर प्राकृतिक रूप से निकल जाए तो इसमें गुड़ की चाशनी इलायची नारियल डालें ।
  5. एक पैन में तब तक पकाएं जब तक चाशनी सोक न लें और फूली न हो जाए (मध्यम आंच पर लगभग 4 मिनट)
  6. आखिर में घी डालें।
Thiruvathirai Kali recipe in Hindi में काजू की सजावट


अपनी पसंद के अनुसार थोड़ा घी गर्म करें और काजू को सुनहरा होने तक भून लें काली में डालें और परोसें।
तिरुवथिराई के लिए ज्यादातर लोग काली और कूटू ही बनाते हैं अदाई हमारा परिवार विशेष है इसे बनाना हमारे लिए जरूरी है और हमें परिवार की खुशहाली और अच्छाई के लिए इसे बिना तोड़-फोड़ किए सावधानी से बनाना है भी चाहिए

Thiruvathirai Kali recipe in Hindi के फायदे और नुक्सान


यह आपकी इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए बेस्ट फूड है जो लोग एनीमिया के रोग से पीड़ित है उन्हें तो इसका सेवन जरूर करना चाहिए आपको बता दें कि इस रोटी को खाने से यह पाचन समस्या को दूर करता है। तथा इसमें फाइबर होने के कारण ये पेट को मजबूत करता है।


खाना खाने के बाद गुड़ खाने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इसमें पाचन क्रिया बेहतरीन हो जाती है जो वजन घटाने में लाभकारी साबित होती है पाचन तंत्र मजबूत बनाएं किसी को पाचन तंत्र मजबूत करना है तो उसको रोजाना गुड़ का सेवन करना चाहिए ऐसा करने से गैस , बदहजमी मतली आने जैसी शिकायत से छुटकारा मिलता हैं।https://foodwada.com/


गर्मियों में गुड़ के सेवन से नकसील फूटने का भी खतरा बढ़ सकता है दरअसल गुड़ की तासीर गर्म होती है इसलिए नाक से खून निकलने की शिकायत बढ़ जाती है यही वजह है एक्सपर्ट गर्मियों में गुड़ नाइट खान की सलाह देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »

Discover more from FOODWADA

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading