1 amazing Millet dosa recipe

1 amazing Millet dosa recipe


० millet dosa recipe कोविड के चलते घर पर रहना अति आवश्यक होने तक बाहर नहीं निकलना और अपनी इम्युनिटी बढ़ाने पर काम करना ही ऐसे कारक है जो इस लड़ाई में हमारी मदद कर सकते थे इम्यूनिटी सिस्टम का मुख्यालय हमारी आंत है पेट के बैक्टीरिया जितने खुश होंगे हमारा इम्यून सिस्टम उतना ही मजबूत होगा और क्या आप अपनी पेट के बैक्टीरिया का पसंदीदा भोजन जानते हैं?

Millet dosa recipe in Hindi
Millet dosa recipe in Hindi

अगर नहीं तो आपको बता दे कि बाजरा फाइबर है और जब अधिक घुलनशील वाले फाइबर खाते हैं तो यह आंत वनस्पति विविध होती है जो की हमारे शरीर की संक्रमण से लड़ने की क्षमता बढ़ती है।


० बाजरा ने केवल फाइबर,मल्टी विटामिन आवश्यक मिनरल्स प्रोटीन के अच्छे स्रोत है बल्कि वह फाइटोकेमिकल्स से भी भरपूर है कुछ ऐसा जो आपको फ्री रेडिकल्स से लड़ने के लिए प्राप्त एंटीऑक्सीडेंट देगा। इसलिए आज रेसिपी ऑफ द डे में हम आपको बाजरा डोसा बनाना बता रहे हैं ।

Millet dosa recipe in Hindi
Millet dosa recipe in Hindi

यह आपके पेट के बैक्टीरिया को अच्छे फाइबर और भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट के साथ खुश कर देगा जी हां यू तुम डोसा एक हेल्दी ब्रेकफास्ट ऑप्शन है लेकिन अगर आप इसे और भी ज्यादा हेल्दी बनाना चाहते है तो आप बाजरे का डोसा बनाकर ट्राई कर सकती हैं।


० मिलेट डोसा पारंपरिक चावल डोसा का एक स्वस्थ और स्वादिष्ट विकल्प है इसे बाजरा, उड़द दाल और मेथी की घोल से बनाया जाता है जिसे किंण्वित किया जाता है और फिर तवे पर पकाया जाता हैं।
० फॉक्सटेल बाजार पोडी डोसा में प्रोटीन और फाइबर की मात्रा अधिक होती है और यह आयरन और कैल्सियम का अच्छा स्रोत हैं।

 Millet dosa recipe
1 amazing Millet dosa recipe


० मिलिट जैसे फिंगर बाजरा (रागी) फॉक्सटेल बाजरा या मोती बाजरा ग्लूटेन मुक्त अनाज है जो इस लोकप्रिय व्यंजन में एक विशिष्ट स्वाद और ढेर सारी स्वास्थ्य लाभ लाते हैं। यह हेल्दी कोदरी डोसा रेसिपी न केवल बनाने में आसान है बल्कि यह आपका आहार में बाजरे की पोस्टकता भी जोड़ती हैं।


० millet dosa recipe बनाने के लिए प्रो टिप्स:

  1. डोसा को फुला हुआ बनाने के लिए पकाने से पहले बैटर में एक चुटकी बेकिंग सोडा मिलाएं।डोसा बनाने के लिए आप दोसा बैटर में बारीक कटा हुआ हरा धनिया भी डाल सकते हैं ।
  2. डोसा को तवे पर डालने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि प्रत्येक डोसा बनाने से पूर्व तवे को अच्छी तरह से सुर सुराना चाहिए।बाजरा डोसा जिसे दक्षिण भारत में कंबू डोसा के नाम से भी जाना जाता है ।
  3. बाजरा से बनी स्वादिष्ट पतले क्रेप्स है इन छोटी-मोटी अनाजों को हिंदी में बाजरा तमिल में कंबू और तेलंगाना में सज्जलु के नाम से जाना जाता है बाजरा डोसा साबूत अनाज से बनाया जाता है और स्वास्थ्यवर्धक स्वाद और बनावट में अच्छा होता है यह अच्छी मात्रा में प्रोटीन काब्र्स खनिज और आयरन के साथ एक बहुत ही पौष्टिक नाश्ता बनाते हैं यह बहुत पुरानी व्यंजनों में से एक है जिसे मैं उपयोग करती रहती हूं इस रेसिपी में मुख्य सामग्री के रूप में साबूत बाजरा, उड़द दाल और चावल का उपयोग किया जाता है मेरे पास बाजरे की रेसिपी के लिए कुछ अनुरोध थे इसलिए मैंने अपनी आजमाई हुई और परखी हुई रेसिपी सांझा करने के बारे में सोचा।
  4. मैं तैयार या स्टोर से खरीदे गए आटे का उपयोग कम करने की कोशिश कर रही हूं क्योंकि हम आटे की गुणवत्ता नहीं जानते हैं इसकी बजाह जहां भी संभव हो मैं साबुत अनाज का उपयोग करती हूं इसलिए मैंने बाजरे की आटे के साथ यह नुस्खा नहीं आजमाया है।
  5. यह कंबू दोसाई या बाजरे का डोसा कुरकुरा बनता है लेकिन बेटर में अधिक पानी मिलाकर इस विधि से नरम डोसा भी बनाया जा सकता है इस रेसिपी में उड़द दाल, चावल और कंबू या बाजार का समान मात्रा में उपयोग किया जाता है आप चावल की जगह कंबू या बाजार ले सकते हैं लेकिन बाजरे का बहुत अधिक सेवन और चावल से पूरी तरह परहेज करना भी अच्छा नहीं है इसलिए इन डोसा में प्रोटीन, काब्र्स, मिनरल्स और आयरन का संतुलित पोषण होता है यह बच्चों सहित सभी आयु समूह के लिए अच्छा है ।
  6. मिलेट्स प्रकृति और अनाज है मत्स्यचय ने भारतीय खाद्य संस्कृति में महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त किया है विशेष रूप से वह छोटे बीज वाले अनाजों का एक समय है जो पोसी परिवार से संबंधित है उनकी खेती हजारों वर्षों से जारी है और दुनिया की आदर्शों में उनका सेवन बड़े पैमाने पर किया जा रहा है विशेष रूप से हमारे देश में मिलने वाली हमारे प्रियजन के भोजन में प्रमुख भाग हैं।

Millet dosa recipe बनाने कि सामग्री

  • आधा कप बाजरा (बाजरा या कंबू या सज्जलु या तीन चौथाई कप बाजार आटा के स्थान पर)
  • आधा कप उड़द दाल।
  • आधा कप चावल या बाजार (उबला हुआ छोटा अनाज जैसा पोन्नी ,मसूरी या इडली चावल)।
  • ½ कप चम्मच नमक (स्वादानुसार)।
  • 3-4 बड़े चम्मच तेल या घी आवश्यकतानुसार ।


Millet dosa recipe banane ki vidhi:


उड़द दाल को तब तक धोएं जब तक पानी साफ न निकल जाएं, इसे 4 घंटे के लिए पर्याप्त पानी में भिगो दें एक बड़े बर्तन में चावल और कंबू या बाजार को एक साथ धो लें। इन्हें पर्याप्त पानी में चार घंटे के लिए भिगो दें। आप चाहें तो बाजरे को ज्यादा देर तक भिगोकर भी रख सकते हैं।


दोनों बर्तनों से पानी निकाल दें, एक ब्लेंडर जार में उड़द दाल को थोड़े से पानी के साथ डालें ज्यादा पानी ने डालें क्योंकि इससे बैटर बहुत पतला हो जाता हैं।
इसे चिकना और बुलबुलेदार होने तक ब्लेंडर करें।


इस जार में बाजरा और चावल डालें और थोड़ा और पानी डालें, यदि आपका ब्लेंडर जार छोटा है तो पहले उड़द दाल के घोल को एक बर्तन में डालें फिर चावल और बाजरा डालें ज्यादा पानी न डालें।
बैटर को चिकना होने तक ब्लेंडर करें। बैटर डोसा बैटर जैसा होना चाहिए बहुत पतला या पतला बैटर अच्छी तरह से किण्वित नहीं होगा।


इसे किण्वन के लिए एक बड़े कटोरे में निकाल लें। ढककर किसी गर्म स्थान पर चार से 8 घंटे के लिए रख दें घर के अंदर के तापमान और जलवायु के अनुसार समय अलग अलग होता है।
मेरे घर में बैटर को उठने में आमतौर पर लगभग 16 घंटे लगते हैं बैटर को अधिक खमिर ने होने दें क्योंकि यह खट्टा हो सकता है यह डोसा बिना किण्वन के थोड़े सख्त हो जाते लेकिन थोड़े से किण्वन से भी बहुत अच्छा डोसा बनता है इसलिए बैटर को थोड़ा सा ऊपर उठने दीजिए।


आवश्यकतानुसार नमक और पानी डालें ,इस एक गाढी स्थिरता में लाएं। अगर आप फ्रिज में कुछ बैटर जमाना पसंद करते हैं, तो आप इसे बिना नमक और पानी डाल सकते हैं।
तवे को गर्म होने तक गर्म करें यदि कच्चे लोहे के पैन का उपयोग कर रहे है, तो उसे पर थोड़ा सा तेल छिड़कें और उसे किचन टिशु या प्याज के टुकड़े से इस तरह चिकना कर लें। अतिरिक्त तेल पोंछ लें- जब पैन गर्म हो जाए तो उसके बीच में एक कलछी भर बैटर डालें।https://foodwada.com/


इसे डोसे की तरह फैलाए आप अपनी पसंद के अनुसार मोटा या पतला डोसा बना सकते हैं।
थोड़ा तेल छिड़के और पकने दे जब तक की किनारे पैन से न छूटने लगें।
पलट कर दूसरी तरफ भी 1 मिनट तक पकाएं पलटें और कुरकुरा होने तक पकाएं।
गरम-गरम बाजरे के डोसा को अपनी मनपसंद चटनी के साथ परोसें।


Millet dosa recipe के प्रभाव

Millet dosa recipe के फायदे
  • मिलेट्स के बेमिसाल फायदे हैं मिलेट्स में सभी तरह की विटामिन, मिनरल्स के साथ-साथ प्रचुर मात्रा में डाइटरी फाइबर होता है जो ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर दोनों को कंट्रोल करता है इसके अलावा मिलेट्स की बीमारियों में रामाबाण की तरह असर करता है।
  • गैलेक्सीन मुक्त
  • पाचन स्वास्थ्य
  • वजन कम करने के लिए
  • रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करें
  • दिल के स्वास्थ्य के लिए

Millet dosa recipe को किनको नहीं खाने चाहिए:
  • मिलेट्स एशिया और अफ्रीका में एक मुख्य भोजन है जो आपके पोषण संबंधी ठोस और मेगालेन- मुक्त प्रकृति के कारण लोकप्रियता हासिल कर रहा है आमतौर पर सुरक्षित और स्वस्थ रहने के लिए मिलेट्स का उपयोग करें फिर भी कुछ मामलों में मिलेट्स के नुकसान को देखा जा सकता है।
  • गोइट्रोजन
  • पोषक तत्व रोधी
  • आक्सीलेंट
  • पाचन संबंधी समस्याएं
  • एलर्जी प्रतिक्रिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »

Discover more from FOODWADA

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading