1 amazing jalebi बनाने कि रेसिपी

1 amazing jalebi बनाने कि रेसिपी

Jalebi (जलेबी) बनाने कि रेसिपी बहुत ही आसान है जो हम घर पर बना सकते है और घर पर आए मेहमानों को खिला सकते है और वैसे भी भारत में त्यौहारों पर बहुत सी मिठाई बनाई जाती हैं पर जलेबी एक ऐसी मिठाई जो किसी भी त्यौहार या कोई भी मौसम हो खाते है तो ये स्वाद लगती हैं। जलेबी भारत की राष्ट्रीय मिठाई और सभी राज्यों में बड़े चाव से खाई जाती हैं।

इस रेसिपी से हम घर पर बड़े आराम से हलवाई जैसी जलेबी बना सकते है जो सभी को बहुत पसंद आएगी और सभी बड़े स्वाद से खायेंगे इसे बनाने के लिए सारा सामान हम घर से ही ले सकते हैं बाजार से कोई भी सामान लाने की जरूरत नहीं पड़ेगी और ज्यादा समय भी नहीं लगेगा। जलेबी मैदे या बेसन के आटे की गोल घेरा जैसी होती है जो लजीज खुशबूदार चीनी की चासनी से भरी होती है ।https://ekaro.in/enkr20230925s35385054

आज के लेख में हम jalebi (जलेबी )बनाने कि रेसिपी जानेंगे जो हम घर पर बड़ी सरलता और शुद्धता से बना सकते है।

घर पर बनी जलेबी बनाने कि रेसिपी से बनी जलेबी खाने के फायदे क्या है?

घर पर जलेबी बनाने कि रेसिपी के फायदे ये है कि हम बाजार की रसायनी पदार्थों से बच सकते है और शुद्ध जलेबी खा सकते है।

Jalebi (जलेबी )बनाने कि रेसिपी में उपयोगी सामग्री :

  • मैदा = दो छोटी कटोरी
  • चीनी = डेढ़ छोटी कटोरी
  • एक कटोरी पानी
  • ईनो = आधा छोटा चम्मच
  • खाने में मिलाने वाला रंग
  • घी दो चम्मच
  • दो से तीन इलायची
  • एक सूखी थैली या कोई कीप
  • नींबू का रस एक चम्मच
  • दो चम्मच दही
  • रिफाइंड तेल

Jalebi (जलेबी )बनाने की रेसिपी

Jalebi recipe
Jalebi recipe

जलेबी बनाने कि रेसिपी के लिए चासनी कैसे तैयार करेंगे?

  • इस रेसिपी में सबसे पहले हम चासनी तैयार करेंगे जिसके लिए आंच पर एक गहरे पेंदे का भगोना लेकर उस में चीनी और एक कटोरी पानी मिलाकर उबाल ले
  • अब इसमें दो इलायची खुशबू के लिए और फिर इसमें एक चौथाई चमच रंग और एक चमच नींबू का रस डालकर उबाल लें
  • अब चासनी के ऊपर के झाग निकाल कर साफ कर लेंगे
  • जब तक चासनी की एक तार बनने न लगेउसमे चमच घूमाते हुए दो से तीन मिनट तक उबालें
  • अब चासनी को अंगुलियों में रख कर देखें की इसमें तार बनने लगे है कि नहीं जब तार बनने लगे तो आंच बंद कर दें
  • खुशबूदार चासनी तैयार है फिर चासनी को एक तरफ ढक कर रख दे।
Jalebi (जलेबी )के घेरे बनाने के लिए घोल कैसे तैयार करें ?
  • अब जलेबी के घेरे के लिए घोल तैयार करने के लिए एक बड़े बर्तन में मैदा लेकर इसमें दो चमच घी, दो चमच दही और ईनो डालकर मोइन कर लेंगे (अच्छे से मिलना)
  • फिर एक कटोरी पानी लेकर धीरे धीरे इसमें पानी मिलाते हुए अच्छे से फेंट लें
  • इसको तब तक मिलाए जब तक इसका गाढ़ा घोल बन जाए
  • फिर तीन से पांच मिनट तक रख ले।
  • बाद में इसे एक कीप में भर लो।
  • अब एक कड़ाई में तेल लेकर इसे अच्छे गर्म करें
  • फिर इसमें धीरे धीरे से गोल घेरे बनाए
  • घेरे बनाते समय ध्यान रखें कि घेरे को दो बार घुमाने के बाद इसके ऊपर जाकर बंद कर दें ताकि ये बिखरे नहीं।
  • अब इन्हें पलट पलट अच्छे से पकाने के बाद इसे गर्म गर्म चासनी में डूबो दे चासनी में घेरों को दो से तीन मिनट तक डुबोकर रखे
  • फिर इनको थोड़ा ठंडा करें अब जलेबी खाने के लिए तैयार है।
Jalebi recipe
Jalebi recipe

इस प्रकार हम आसानी से इस जलेबी बनाने कि रेसिपी से हमने स्वादिष्ट जलेबी बनाना सीखा जो सभी को बेहद स्वादिष्ट लगेगी जिसको खाने के बाद आपका दुबारा खाने का मन करेगा
इस जलेबी बनाने कि रेसिपी से आप आसानी से कोई भी कार्यक्रम पर जलेबी बनाए खाए और सभी को खिलाए।https://foodwada.com/

जलेबी खाने के फायदे – 

जलेबी खाना बहुत ही लोगों को पसंद होती है।

उत्तर भारत में सुबह का नाश्ता जलेबी के साथ होता है।

  • जलेबी का सेवन हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  • जिनके शरीर दुबला पतला है उनके लिए जलेबी बहुत ही आवश्यक है।
  • दुबले पतले लोगों के लिए देसी घी से बनी जलेबी का सेवन रोजाना करने से उनका शरीर बनता है।
  • बागडोर भरी जिंदगी में मनुष्य को तनाव का सामना करना पड़ता है।तनाव या टेंशन को दूर करने के लिए आप जलेबी का सेवन कर सकते हैं।
  • क्योंकि जलेबी मीठी होती है जिससे हमारा मन सही होता है और पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए भी है। बहुत आवश्यक है।
  • अगर किसी व्यक्ति को पीलिया की शिकायत है तो जलेबी का सेवन बहुत ही फायदेमंद होगा।
  • इसके लिए सुबह दो-तीन खाली पेट जलेबी खाने से पीलिया की समस्या बहुत जल्दी खत्म हो जाएगी।
  • आजकल माइग्रेन की समस्या बहुत अधिक हो रही है तो माइग्रेन की समस्या के हल के लिए जलेबी का सेवन बहुत ही आवश्यक है।
  • सुबह दूध और जलेबी का सेवन करने से माइग्रेन की समस्या से छुटकारा मिलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »

Discover more from FOODWADA

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading